समस्तीपुरः बवाल मामले में पुलिस की कार्रवाई से खफा व्यवसायियों ने बंद रखी दुकानें !

शिवाजीनगर में वाहन से कुचलकर मौत के बाद बवाल मामले में पुलिस की कार्रवाई से लोगों में काफी आक्रोश है। वे पुलिस के खिलाफ शनिवार को एकजुट दिखे। उन्होंने अपनी ईच्छा से अपने अपने व्यवसायिक प्रतिश्ठान को बंद रखा। स्वर्स्फूत बंदी के कारण शिवाजीनगर में रौनकता गायब रही। लोगों का स्पष्ट आरोप था की पुलिस किसी के ईशारे पर पकड़ धकड़ कर रहीं है। धड़ पकड़ कर पुलिस अपने तानाशाही रवैये का परिचय देने से वाज नहीं आ रहीं है। जबकि घटना के सभी बिन्दुओं की गहरायी से जांच के बाद कार्रवाई की जानी चाहिए। बता दें कि विगत दिनों एक वाहन से कुचलकर दो युवती तथा एक युवक की मौत के बाद पुलिस के रवैये एवं अस्पताल में चिकित्सक की अनुपस्थिति के बाद लोगों की भीड़ भड़क गयी थी। इस दौरान एक ओर पुलिस भीड़ को खदेड़ने का प्रयास कर रहीं थी तो दूसरी ओर पुलिस पर पत्थरबाजी एवं सरकारी वाहनों को जलाया गया था। सबसे आश्चर्य जनक बात तो यह है कि शिवाजीनगर में पुलिस के सैकड़ों जवान रहने के बाबजूद दो स्वर्ण दुकान में चोरी की घटना हो गयी। ऐसे में स्थानीय लोग इस बात से खफा है कि एक तरफ पुलिस निर्दोष की गिरफ्तारी कर रहीं है तो दूसरी तरफ चोर दुकानों में सेंधमारी । ऐसे में व्यवसाय कर पाना मुश्किल है।

यह भी पढ़ें-

1-समस्तीपुरः शिवाजीनगर बवाल में थानाध्यक्ष समेत दो पुलिसकर्मी निलंबित, डीएसपी से शो-काउॅज

2-समस्तीपुरः शिवाजीनगर में पुलिस प्रशासन पर क्यों भड़क गयी भीड़?

3-समस्तीपुरः शव हटाने के बदले शराब हटाने में क्यों जुटी पुलिस?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *