वर्ष 2015 में पीएम को रैली का परमिशन नहीं देने वाले आईएएस सेहरा बने समस्तीपुर के नये डीएम

 

हमेशा चर्चा में रहने वाले समसतीपुर के नये डीएम देवेश सेहरा, उस समय चर्चा में आये थे, जब उन्होंने पीएम नरेन्द्र मोदी को बिहार विधानसभा चुनाव के समय 12 अक्टूबर को कैमूर में रैली के लिए परमिशन नहीं दिया था।
इसे लेकर बिहार में नया राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया था। बीजेपी ने आरोप लगाया था कि नीतीश सरकार के इशारे पर डीएम सेहरा ने ऐसा किया। कैमूर में पीएम की रैली 12 अक्टूबर को होनेवाली थी। हालांकि, रविवार को मोदी की इस रैली के लिए बीजेपी को मंजूरी मिल गई थी।
विवादों में आए सेहरा ने पहले भी कुछ राजनीतिक पोस्ट अपने एफबी वॉल पर शेयर की है। वे पहले भी विवादों में रह चुके हैं। उनके ऊपर 2007 में एक कर्मचारी सुशील ने केस दर्ज कराया था। उस समय सेहरा गया में पोस्टेड थे। सुशील का आरोप था कि सेहरा ने कुछ मिनट लेट आने पर उससे सौ बार उठक-बैठक करने की सजा दी थी। ऐसा नहीं कर पाने पर इस आईएएस ने उसे बेइज्जत किया था।बता दें कि चुनाव आयोग के निर्देश पर तत्कालीन डीएम चन्द्रशेखर प्रसाद सिंह का तबादला कर दिया गया है।

कौन हैं देवेश
देवेश 2005 के आईएएस अफसर हैं। मूल रूप से यूपी के निवासी हैं। उनकी शुरुआती पढ़ाई-लिखाई केरल में हुई है। वे कोट्टायम की महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी से प्रथम श्रेणी के साथ इकोनॉमिक्स में ग्रैजुएट हैं। उन्होंने केंद्रीय विद्यालय से अपनी शुरुआती पढ़ाई की। सिविल सेवा में आने से पहले देवेश, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया में भी काम कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *