समस्तीपुरः आखिर जदयू क्यों कर रहा था भीतरघात !

जिले की दोनों लोकसभा सीट पर चुनाव के दौरान एनडीए उम्मीदवार को जीताने के बदले जदयू के पंचायत स्तरीय नेताओं ने खुलकर महागठबंधन के उम्मीदवारों का समर्थन किया। इसके पीदे का कारण क्या था? क्या जद यू के दिग्गज नेताओं को इसमें शह तो नहीं था? जदयू के वर्तमान विधायक, पूर्व सांसद, सांसद पद के संभावित उम्मीदवार इसके पीदे तो नहीं थे? ऐसे कई सवाल अब उठने लगे है। कुछ नेताओं का कहना था की जद यू का जिले में ठोस जनाधार है, लेकिन दोनों सीट गठबंधन के तहत दे दी गयी। कई लोग तो चर्चा कर रहे है कि यदि एनडीए की हार होती है तो इसका एक कारण जदयू का भीतरघात का उठाया गया कदम भी होगा। वैसे कहने के लिए जदयू नेताओं ने इस तरह के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है। जदयू के दिग्गज नेताओं ने कहा है कि भीतरघात का तो सवाल ही नहीं उठता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *