महागठबंधन के उम्मीदवार डॉ अशोक कुमार अपने विधानसभा क्षेत्र में 70 हजार वोट से हारे

रोसड़ा के कांग्रेसी विधायक डॉ अशोक कुमार अपने विधानसभा क्षेत्र में 70391 वोट से हार गये। उन्हें मात्र 44479 वोट मिले, जबकि उनके प्रतिद्वंदी लोजपा के रामचन्द्र पासवान को 114870 वोट प्राप्त हुये। वैसे तो समस्तीपुर संसदीय सीट के सभी छह विधानसभा में महागठबंधन की हार हुई। लेकिन रोसड़ा में सबसे अधिक वोट से हारने की चर्चा लोगों के जुबान पर रहीं। समस्तीपुर (सु.) लोकसभा क्षेत्र से लोजपा प्रत्याशी रामचंद्र पासवान ने भी सभी विधानसभा क्षेत्रों में बढत बनायी। सर्वाधिक बढत रामचंद्र पासवान को रोसड़ा सुरक्षित सीट से मिली जहां से उनके प्रतिद्वंदी डॉ.अशोक कुमार विधायक हैं। रोसड़ा से रामचंद्र पासवान ने 70 हजार 391 वोटों से लीड किया। जबकि कल्याणपुर सुरक्षित सीट से 50 हजार 909 वोटों से वे आगे रहे। इसी तरह वारिसनगर विधानसभा क्षेत्र से 42 हजार 826 वोटों से आगे निकले। कुशेश्वरर स्थान सुरक्षित सीट से 42 हजार 456 वोटों के अंतर से उन्होंने बढत बनायी। जबकि हायाघाट से 25 हजार 384 एवं समस्तीपुर विधानसभा क्षेत्र से 18 हजार 608 वोटों से वे जीते। कुल मिलाकर सभी विधानसभा क्षेत्रों से अपने प्रतिद्वंदियों को बड़े अंतर से पछाड़ा। लोगों की जुबान पर डॉ अशोक कुमार के व्यवहार कुशलता की चर्चा अवश्य थी। लेकिन वे जिन लोगों से घिरे रहते हैइसके कारण अधिकांश कार्यकर्ता उनसे नाराज थे। उनके साथ चेहरा दिखाने वाले लोगों की कमी नहीं है। लेकिन जरा गौर फरमाये तो पता चलेगा रोसड़ा विधानसभा के हर पंचायत के कार्यकर्ता को विधायक जी पहचानते तक नहीं है। शायद यहीं कारण है कि उन्हें अपने ही विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक वेट से हार का समाना करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *