बेगूसरायः मृत्युभोज के बदले स्कूल भवन का करेंगे निर्माण, राजकिशोर सिंह बने मिसाल

image

You must need to login..!

Description

मोहनपुर गांव में शुक्रवार को समाजसेवी राजकिशोर सिंह ने सामाजिक वर्जनों को तोड़ते हुए मां के मृत्युभोज की जगह गांव में जर्जर हो चुके हाईस्कूल के भवन निर्माण के लिए 10 लाख रुपये देने की घोषणा की। भोज के नाम पर खर्च होनेवाली राशि को समाज के विकास में लगाने की उनकी पहल की ग्रामीणों ने ध्वनि मत से सराहना की।मोहनपुर गांव के लिए शुक्रवार का दिन ऐतिहासिक रहा। दो दिन पहले राजकिशोर सिंह की माता 85 वर्षीया जानकी देवी का निधन हो गया था। उन पर सामाजिक सरोकार के तहत मृत्युभोज करने का दबाव था। उनके दिमाग में गांव में ही स्थित रघुनंदन सिंह हाईस्कूल के जर्जर हो चुके भवन व कमरे के जीर्णोद्धार को लेकर विचार आया। इस पर उन्होंने ग्रामीणों की बैठक बुलाई और स्कूल भवन निर्माण के लिए राशि देने व मृत्युभोज को छोटा करने का प्रस्ताव रखा। इसका ग्रामीणों ने ध्वनिमत से स्वागत किया। साथ ही, उनकी पहल की जमकर सराहना भी की। राजकिशोर सिंह ने बताया कि गांव में शिक्षा व छात्रों की स्थिति बेहतर हो, इसके लिए वह हमेशा प्रयत्नशील रहते हैं। मृत्युभोज पर खर्च को लेकर वे परेशान थे।

गांव के विद्यालय को मॉडल बना चुके हैं ग्रामीण
इसी गांव में स्थित माध्यमिक विद्यालय ग्रामीणों की मदद से पूरे सूबे में मॉडल बन चुका है। स्थानीय लोगों की आर्थिक मदद से यह स्कूल किसी भी निजी स्कूल से बेहतर साबित हो रहा है। यहां के बच्चे शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। यह स्कूल राष्ट्रीय व राज्यस्तर पर कई बार मीडिया में सुर्खियां बटोर चुका है।

पूर्व में भी रहे हैं आर्थिक मददगार
गांव के विद्यालय में बेहतर आधारभूत संरचना के लिए पूर्व में भी ग्रामीण इंद्रदेव सिंह, अवध किशोर सिंह, अशोक कुमार, अनिल कुमार आदि लाखों रुपये की आर्थिक मदद कर चुके हैं।

रूढ़िवादी व्यवस्था को तोड़कर शिक्षा के विकास में आगे आने के लिए धन्यवाद देता हूं। दस प्रतिशत लोग भी ऐसा करने लगें तो क्रांति आ जाएगी। स्कूल में स्मार्ट क्लास की पढ़ाई शुरू हो सकेगी।
-देवेंद्र कुमार झा, डीईओ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *