रोसड़ाः पराये जब अपने हुये तो श्याम के हाथों में मिल गयी नगर पंचायत की कमान

image

You must need to login..!

Description

नगर पंचायत रोसड़ा की कहानी भी अजब गजब की है। कल तक रेणू के सपोर्ट में खड़ा रहने वाले राजनीतिक लोग अचानक विमुख हो गये तो उन्हें इस्तीफा देना पड़ गया। रेणू देवी आठ जून 2017 को जब रोसड़ा में मुख्य पार्षद चुनी गयी ।लगातार तीसरी बार मुख्य पार्षद की कुर्सी हासिल करने में सफलता हासिल की। रेणु देवी को दस और उनके निकटतम प्रतिद्वंदी श्याम बाबू सिंह को सात मत मिले। एक मत रद्द हुआ। इस प्रकार से रेणू देवी ने लगातार तीन बार चेयरमैन बनी। तकरीबन 12 साल तक एक छत्र राज करने वाली रेणू ने विगत दिनों इस्तीफा दे दिया था। लेकिन दो वर्ष पहले श्याम बाबू को सात मत से ही संतोष करना पड़ा था। लेकिन इस बार दुगुने से भी एक मत अधिक मिलना अअर्थात 15 मत मिलना चर्चा का विषय बन गया है। श्याम के विरोध में महज तीन पार्षद है। ऐसे में नगर पंचायत के लोगों में विकास के कयास लगाये जा रहे है। अब देखना है रोड़े अटकाने वाले विकास के कार्यो में सहयोग कर पाते है या नहीं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *