समस्तीपुरःकर्पूरी ठाकुर की राह पर चलकर हमेशा के लिए लालू के ही हो गये गजेन्द्र प्रसाद सिंह

image

You must need to login..!

Description

कर्पूरी ठाकुर की राह चलकर लालू के स्नेहपात्र बने पूर्व मंत्री स्व0 गजेन्द्र सिंह की बुलन्द आवाज आज भी ईलाके के लोग भुला नहीं पाये है। रोसड़ा के एमएलए भोला मंडल की आकस्मिक निधन के बाद परसा गांव के गजेन्द्र प्रसाद सिंह को विधानसभा का टिकट थमाने वाले कर्पूरी ठाकुर भले ही 1988 में गुजर गये। लेकिन गजेन्द्र प्रसाद सिंह की आवाज में वह जादू छोड़ गये, जिस जादू की बदौलत गजेन्द्र प्रसाद सिंह ने रोसड़ा विधानसभा की आवाज को विधानसभा में बुलन्द किया। 1988 से लगातार तीन बार अर्थात 2000 तक रोसड़ा के विधायक रहे श्री सिंह 2005 के दोनों चुनाव में विजय हुये। वर्ष 2010 में रोसड़ा विधानसभा के आरक्षित हो जाने के बाद वारिसनगर विधानसभा से भाग्य आजमाने के दौरान मिली पराजय के बाद वे गंभीर बीमारी की चपेट में आ गये और वर्ष 2015 में हमलोगों के बीच से सदा सदा के लिए गुजर गये।

           पुण्य तिथि पर आईना समस्तीपुर के संपादक संजीव कुमार सिंह की ओर से श्रद्धा सुमन के दो शब्द

उनकी दो लाईनें आज भी लोगों की जुबान पर है। वे चुनाव के दौरान कहते थे कि ‘‘विकास के लिए वोट करिए, सम्बधी बनाते वक्त जात को ढ़ूढ़िये ‘‘। 20 सितम्बर 2015 को उनका देहावसान हो गया।गजेन्द्र सिंह ने लालू प्रसाद सिंह के सानिध्य में राजनीति की जो पाठ पढ़ी आजीवन लालू प्रसाद यादव के हमदर्द बनकर रोसड़ा विधानसभा क्षेत्र की जनता की सेवा की। रोसड़ा का स्टेडियम, उपकारा, दुग्ध संग्रह केन्द्र, बरियाही घाट पुल, शिवाजीनगर प्रखंड व अंचल कार्यालय, शिवाजीनगर ओपी, रोसड़ा का उद्यान, समेत कई कार्यो का श्री गणेश किया और उसे पूरा करने के लिए संघर्ष भी किया। वैसे उनके पिता स्व0 राम लखन सिंह का भी ईलाके में काफी योगदान था। उन्होंने भी शिक्षा के क्षेत्र में कई काॅलेज आदिका निर्माण करवाया था। उनके बाद जब गजेन्द्र प्रसाद सिंह ने शिक्षा मंत्री की कुर्सी थामी तो शिवाजीनगर हाई स्कूल में बिहार बोर्ड की परीक्षा का आयोजन करवा दिया । अंग्रेजी को सिलेबश से हटाकर उसमें पास होने की अनिवार्यजता को समाप्त करवा दिया। वैसे वे उत्पाद एवं मद्य निशेध मंत्री भी रहे। गरीब, गुरबों की आवाज बन कर उभरे गजेन्द्र प्रसाद सिंह ने प्रारम्भ के समय में सामंती विचारधारा का खुलकर विरोध किया और लालू की राह चलकर रोसड़ा एवं शिवाजीनगर क्षेत्र में अनगिनत कार्यो को अंजाम दिया। उनकी पुण्य तिथि पर शिवाजीनगर में उनकी प्रतिमा की स्थापना की जा रहीं है। इसके मुख्य अतिथि बिहार विधानसभा के विपक्ष के नेता तेजसवी यादव के कर कमलों द्वारा किया जाना है। इस कार्यक्रम के आयोजक गजेन्द्र प्रसाद सिंह की धर्म पत्नी डाॅ उर्मिला सिन्हा कर रहीं है। मैं संजीव कुमार सिंह इस आलेख के माध्यम से स्व0 गजेन्द्र सिंह कोश्रद्धा सुमन अर्पित करता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *