समस्तीपुरः अंडमान द्वीप पर कौन करेगा राज?दिग्गजों के बीच घमासान !

image

You must need to login..!

Description

।।संपादक संजीव कुमार सिंह ।।
समस्तीपुर जिले का अंडमान द्वीप कहा जाने वाला हसनपुर विधानसभा क्षेत्र पर कौन करेगा राज ? किसके सर सजेगा जीत का सेहरा? संपादक संजीव कुमार सिंह बतातें है कि बाहुबली किरदारों की अहमियत के बिना कौन जीता है आजतक? वर्चस्व की लड़ाई में सुर्खियों में रहने वाला यह क्षेत्र राजनीतिक धुरंधरों के चहलकदमी से अचानक चर्चा में अवश्य आ गया है। तभी तो यह क्षेत्र बिहार के चर्चित चुनावी समर बनता नजर आ रहा है । इस विधानसभा में प्रत्याशियों की दावेदारी और इस सीट को झटक ले जाने का घमासान है। क्षेत्र के राजनीतिक चैसर पर खूब सोच समझ कर राजनीतिक बिसात बिछाए जा रहे हैं । बड़े राजनीतिक घरानों की हसनपुर क्षेत्र पर दावेदारी और चुनावी तैयारी ने यहां की राजनीति को अत्यंत ही दिलचस्प बना दिया है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद का भी इस क्षेत्र से गहरा नाता रहा है। लालटेन की लौ सुनील पुष्पम ने इस क्षेत्र में जला रखी है। वे इन दिनों जेल में है। क्षेत्र से कई दावेदार अपनी दावेदारी कर रहे है। इनमें सुनील कुमार पुष्पम की पत्नी माला पुष्पम हो या पूर्व विधायक महावीर राउत के पौत्र ललन यादव का नाम संभावित उम्मीदवार के रूप में लिया जा रहा था। लेकिन इस बीच तेजप्रताप के संभावित दावेदारी से हसनपुर विधानसभा सुर्खियों में आ गया है। तेजप्रताप ने तेज संवाद कर हसनपुर की जनता का मन टटोलने का प्रयास किया है। इस दौरान राजद में तेजप्रताप के प्रति अतिउत्साह भी दिखा। इधर बिहार विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष व पूर्व मंत्री वर्षों तक बिहार में समाजवादी राजनीति के स्तंभ पुराने समाजवादी नेता गजेंद्र प्रसाद हिमांशु की पुत्रवधू मीनाक्षी हिमांशु ने हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनावी संग्राम में उतरने की तैयारी पूरी कर ली है। गौरतलब है कि इनके ससुर गजेंद्र प्रसाद हिमांशु सात बार हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने जा चुके हैं। और बर्षों तक बिहार विधानसभा के उपाध्यक्ष और बिहार सरकार के कैबिनेट मंत्री पद को सुशोभित कर चुके हैं। मीनाक्षी हिमांशु वर्तमान में हिमांशु फाउंडेशन ट्रस्टश् की ट्रस्टी सीईओ हैं । अपने ट्रस्ट के माध्यम से वे बिहार ही नहीं अपितु अन्य प्रदेशों में भी गरीब, दलितों, पिछड़ों और मजलूमों के बीच सामाजिक कार्य कर अपना नाम कर रही हैं। समाज सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए मीनाक्षी हिमांशु को समाज सद्भावना शिखर सम्मान इंडिया राइजिंग स्टार अवार्ड युगपुरुष ज्योतिबा फुले सम्मान तथा डॉ लोहिया समता सम्मान् से नवाजा जा चुका है। एक तरफ लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेज प्रताप ने हसनपुर विधान सभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर कर इस क्षेत्र को अचानक सुर्खियों में ला दिया है । जदयू का तीर लेकर सामान्य सा दिखने वाला एक चेहरा राजकुमार राय दो बार इस सीट से विजयी श्री का परचम लहरा चुके है। यह सीट यदि जदयू के केटे में गया तो राज कुमार राय ही उम्मीदवार होंगे। यदि सीट भाजपा को मिला तो ऐश्वर्या को टिकट मिल सकता है। वैसे ऐश्वर्या इस सीट से तभी दावेदार बनेगी जब लालू के लाल तेजप्रताप मैदान में उतरेंगे। समस्तीपुर जिला हसनपुर विधानसभा क्षेत्र वैसे तो खगड़िया लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा हैं। लेकिन यह समस्तीपुर जिले का अभिन्न अंग है। जिले की राजनीति हसनपुर से ही प्रारम्भ इसलिए भी होती है क्योंकि यह क्षेत्र वर्चस्व की लड़ाई का भी चर्चित ईलाका रहा है। बाहुबली कुन्दन सिंह एवं अशोक यादव के अलावे रणवीर यादव जैसे लोग भी इस क्षेत्र में सक्रिय रहे है। ये लोग किसी ना किसी दल का दामन प्रारम्भ से लेकर आज भी थामे हुये है। इसलिए इनका दबदबा ना हो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। हालांकि हसनपुर की राजनीतिक बनावट एवं मतदाताओं के असामान्य व्यवहार के कारण शुरू से लेकर आज तक हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से स्थानीय प्रत्याशी की ही जीत होती रही है चाहे वह किसी भी दल के प्रत्याशी रहे हों ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *