कोलकाता से फोन कर बिहार के पूर्व सांसद से मांगी 5 करोड़ की रंगदारी

image

You must need to login..!

Description

||गुलशन कुमार ||
मध्य कोलकाता के एक लाॅज में कमरा बुक कर वहां से बिहार के पूर्व सांसद देवेंद्र प्रसाद यादव को फोन कर पांच करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने का मामला प्रकाश में आया है. इस घटना के खुलासे के बाद जिस शख्स के मोबाइल नंबर से फोन किया गया था, उसके खिलाफ मोचीपाड़ा थाने की पुलिस ने पीड़ित पूर्व एमपी की शिकायत के आधार पर एफआइआर दर्ज की है. हालांकि घटना के बाद से रुपये मांगनेवाला आरोपी विक्रम सिंह फरार है. पुलिस मामले की जांच शुरू कर आरोपी की तलाश कर रही है.

क्या है मामला:
डीसी (सेंट्रल) अखिलेश चतुर्वेदी ने बताया कि नौ फरवरी को पुलिस को सूचना मिली कि मोचीपाड़ा इलाके के एक लॉज में विक्रम सिंह नाम से एक व्यक्ति ने कमरा बुक किया है. पुलिस को पता चला कि वह व्यक्ति कमरे से किसी को फोन पर धमकी देकर उससे पांच करोड़ रुपये मांग रहा है. इस जानकारी के बाद मोचीपाड़ा थाने की पुलिस वहां पहुंची, तो पता चला कि वह शख्स एनआरएस अस्पताल में पेट का इलाज कराने के बहाने कुछ देर पहले कमरे से बाहर निकला है.

हालांकि काफी देर तक इंतजार करने के बावजूद वह नहीं लौटा. इसके बाद पुलिस कमरे में घुसी, तो देखा अंदर एक लैपटॉप, दो मोबाइल फोन अौर कुछ कपड़े पड़े हैं. सभी सामान को जब्त किया गया. पुलिस उपायुक्त के मुताबिक, जब्त लैपटॉप की जांच करने पर उसमें कुछ वीडियो फुटेज मिले. जब्त मोबाइल फोन की जांच करने पर पता चला कि धमकी भरा फोन बिहार के पूर्व एमपी व वर्तमान में समाजवादी पार्टी के बिहार राज्य अध्यक्ष देवेंद्र प्रसाद यादव को किया गया था. कोलकाता पुलिस द्वारा संपर्क करने पर देवेंद्र प्रसाद यादव ने फोन आने की बात स्वीकार की. इसके बाद फैक्स के जरिये मोचीपाड़ा थाने में 13 फरवरी को उन्होंने लिखित शिकायत दर्ज करायी. 14 फरवरी को मोचीपाड़ा थाने की पुलिस ने आरोपी के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है.

मैथ्यु सैम्युएल को घेरने की पुलिस ने शुरू की तैयारी

इस मामले में कोलकाता पुलिस सूत्रों का कहना है कि वीडियो में मैथ्यु सैम्युअल जैसा व्यक्ति असल में कौन है, ब्लैकमेल करनेवाले वीडियो में वह क्या कह रहा है. असल में विक्रम सिंह कौन है, मैथ्यु सैम्युअल से उसका क्या संबंध है, इसकी जांच शुरू कर दी गयी है. इस मामले में जल्द से जल्द कोलकाता पुलिस मैथ्यु सैम्युअल को पूछताछ के लिए समन भी भेजने की तैयारी में भी जुट गयी है. उससे पूछताछ कर इस मामले की हकीकत तक पहुंचने में पुलिस को मदद मिलेगी. गौरतलब है कि पिछले साल विधानसभा चुनाव से पहले नारद न्यूज ने कथित तौर पर राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कुछ सांसदों और मंत्रियों द्वारा एक फरजी कंपनी से रिश्वत लेने से संबंधित वीडियो क्लिप जारी किये थे. इसके बाद काफी हंगामा हुआ था.

वीडियो फुटेज में मैथ्यु सैम्युअल जैसे व्यक्ति का दिखा चेहरा!: मामले में पुलिस सूत्रों का कहना है कि जो लैपटॉप जब्त किया गया है, उसकी जांच करने पर कुछ लोगों के चेहरे सामने आये. उनमें एक चेहरा नारद न्यूज के सीइओ मैथ्यु सैम्युअल के चेहरे से मिलता-जुलता है. डीसी सेंट्रल अखिलेश चतुर्वेदी ने बताया कि वीडियो फुटेज में वह चेहरा असल में किसका है, इसका पता लगाने के लिए वीडियो फुटेज को फॉरेंसिक लैब में भेजने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. विक्रम ने जिस वोटर आइडी कार्ड से लॉज में कमरा बुक करवाया था, वह भी जांच में नकली निकला. सिम कार्ड विक्रम सिंह के नाम से ही खरीदा गया था. इसके कारण विक्रम की तलाश तेज कर दी गयी है. उसके पकड़े जाने पर पूरे मामले से परदा उठ सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *